उत्कृष्ट नेतृत्व तथा व्यवहार कुशलता का जीवंत उदाहरण हैं गृहमंत्री अमित शाह

उत्कृष्ट नेतृत्व तथा व्यवहार कुशलता का जीवंत उदाहरण हैं गृहमंत्री अमित शाह

हमारे देश के संवैधानिक पदों में केंद्रीय गृह मंत्री का पद बेहद महत्वपूर्ण स्थान रखता है। इस पद पर आसीन व्यक्ति देशभर की व्यवस्था को संचालित करने के लिए अनेक प्रकार के विभागों की देखरेख भी करता है। वर्तमान समय में हमारे देश के केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह हैं। 22 अक्टूबर 1964 को संपन्न गुजारी परिवार में जन्में अमित शाह प्रारंभ से ही व्यवहार कुशल रहें हैं। भारतीय राजनीति में आने के बाद में उनके नेतृत्व में जिस प्रकार से बीजेपी ने लगातार विधान सभा चुनावों में प्रदर्शन किया है। उससे अमित शाह के कुशल नेतृत्व का सहज पता लगता है। माननीय अमित शाह के के निर्देशन आज बीजेपी विश्व की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी बनकर उभरी है। जिसके 10 करोड़ से भी अधिक पंजीकृत सदस्य हैं।

माननीय गृह मंत्री जमीनी स्तर से कार्य करते हुए सत्तारूढ़ बीजेपी पार्टी के मुखिया के तौर पर उभर कर आये हैं। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ तथा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के सदस्य रहे अमित शाह अपनी यात्रा में आगे बढ़ते हुए गुजरात की अहमदाबाद बीजेपी यूनिट के सचिव बने। इसके उपरांत वे गुजरात बीजेपी के सचिव तथा उपाध्यक्ष के पद पर भी आसीन रहे। 1997 में वे भारतीय जनता युवा मोर्चा के कोषाध्यक्ष भी रहे। माननीय अमित शाह की दक्षता तथा पार्टी के कार्य के लिए लगन उनको निरंतर आगे बढ़ाती रही। जिसके चलते वे 1991 में लाल कृष्ण आडवाणी तथा 1996 में अटल विहारी वाजपेयी जैसे राष्ट्रीय नेताओं के अनेक चुनावी अभियानों के प्रभारी बने। 2001 में राजकोट विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से जब श्री नरेंद्र मोदी अपना पहला चुनाव लड़े तो इस चुनाव के प्रमुख भी माननीय अमित शाह ही बने। चुनावी अभियानों के अलावा अमित शाह ने संगठन से जुड़े दायित्वों का निर्वहन भी कुशलतापूर्वक किया है।

2013 में अमित शाह को बीजेपी का राष्ट्रीय महासचिव तथा उत्तर प्रदेश का प्रभारी नियुक्त किया गया। जिसके उपरांत श्री शाह के अथक प्रयासों के फलस्वरूप 2014 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी ने ऐतिहासिक जीत हासिल की। जुलाई 2014 में अमित शाह को बीजेपी का राष्ट्रीय अध्यक्ष घोषित किया गया। इसके बाद अमित शाह के कुशल नेतृत्व में बीजेपी लगातार आगे बढ़ती रही। पिछले 5 वर्षों के दौरान बीजेपी ने हरियाणा, गुजरात, उत्तर प्रदेश आदि राज्यों में अपनी सरकार बनाई है। अमित शाह वास्तव में अनेक गुणों के धनी हैं। वे एक क्रिकेट प्रेमी, एक उत्सुक पाठक तथा एक उत्कृष्ट खिलाड़ी भी के गुण भी रखते हैं। इतिहास तथा साहित्य में अमित शाह विशेष रूचि रखते हैं। अमित शाह धर्म के प्रति भी विशेष श्रद्धा रखते हैं तथा सोमनाथ ज्योतिर्लिंग में उनकी गहरी श्रद्धा है। इसी के चलते 22 फरवरी 2016 को उन्हें सोमनाथ ज्योतिर्लिंग ट्रस्ट का ट्रस्टी भी बनाया गया।